सावरण-श्री-गौर-पाद-पद्मॆ प्रार्थन

Sāvaraṇa-śrī-gaura-pāda-padme (in Hindi)

श्री-कृष्ण-चैतन्य प्रभु दॊया कॊरो मोरे
तॊमा बिना कॆ दॊयालु जगत्-संसारे

पतित-पावन-हेतु तव अवतार
मॊ सम पतित प्रभु ना पाइबे आर

हा हा प्रभु नित्यानंद, प्रेमानंद सुखी
कृपावलोकन कॊरो आमि बॊडॊ दुःखी

दॊया कॊरो सीता-पति अद्वैत गोसाइ
तव कृपा-बले पाइ चैतन्य-निताइ

हा हा स्वरूप्, सनातन, रूप, रघुनाथ
भट्ट-जुग, श्री-जीव हा प्रभु लोकनाथ

दॊया कॊरो श्री-आचार्य प्रभु श्रीनिवास
रामचंद्र-संग मागे नरोत्तम-दास

ध्वनि

  1. श्री स्तोक कृष्ण दास तथा भक्त वृन्द- इस्कॉन बैंगलोर