संबंधाधिदेव प्रणाम

Sambandhādhideva praṇāma (in Hindi) जयतां सुरतौ पंगोर् मम मंद-मतेर् गती मत्सर्वस्व पदांभोजौ राधा-मदन-मोहनौ ध्वनि श्रील प्रभुपाद